Female reproductive system


मनुष्य के female reproductive system में निम्नलिखित रचना पाये जाते है:- 


1. Ovaries:- Ovaries , female reproductive system में पायें जाने वाले महत्पूर्ण organ है । ये एक जोड़ा almond कें आकार का चपटा रचना है , जिनका diameter लगभग 3 cm तक होता है तथा दोनो ovaries का भार लगभग 15gm होता है । ये pelvic cavity कें अंदर vertebral column कें बगल में kidneys कें पीछे स्थति होता है प्रत्येक ovary , dorsal abdominal wall से mesovarium और ovarian ligament कि मदद से जुड़े होते है । प्रत्येक ovary कें internal structure का अध्धयन करने पर हम पते है कि प्रत्येक ovary , cubical epithelium कें एक layer से घिरा होता है जिसे germinal epithelium कहते है ।


Ovary में पायें जाने वाले पदार्थ मुख्य रूप से fibrous connective tissue से बने होते है जिसे stroma कहते है । इसके बाहरी dense layer अर्थात् cortex और inner loose layer अर्थात् medulla में बंटा जा सकता है । germinal epithelium कें ठीक नीचे cortex , connective tissue कें एक layer से घिरा होता है जिसे tunica albuginea कहते है । एक विकसित ovary कें cortex में follicles और corpus leuteum पायें जाते है जबकि medulla में केवल बड़े बड़े ब्लड vessels पायें जाते है ।
 इन रचनाओ का विस्तर से वर्णन निम्निलिखित है –
               

female-reproduction-system



Female Reproductive System In Hindi


(a)  Ovarian follicle :-  Ovary कें वृ्दि कें समय इसका germinal epithelium कुछ स्तनों पर ovary में अंदर कि ओर धंस जाता है और मुख्य layer से epithelial tissue का एक समूह अगल हो जाता है । इस समूह में से एक cell अविकसित ovum या oocyte का निर्माण करता है । शेष cells , ovum कें चारो ओर एक layer का निर्माण करते है । जिसे follicular epithelium या granulosa कहते है । अविकसित ovum और उसे घेरने वाले granulosa को समिल्लित रूप से primordial follicle या primary follicle कहते है ।


Granulose या follicular epithelium ko.घेरने वाला stroma उसके चारो ओर संगठित होकर connective tissue कें layer का निर्माण करता है जिसे theca extema और theca intema कहते है । theca intema , ovary कें endocrine part कें समान कार्य करता है और महत्पूर्ण sex hormone , estrogen का secretion करता है । इसी समय oocyte कें चारो ओर mucopolysaccharide कें एक layer का निर्माण होता है जिसे zona pellucida कहते है । एक पूर्ण विकसित follicle को graffian follicle कहते है । इसके संबंध में पहली बार De graaf ने 1672 में report किया था ।


Graffian follicle कें अंदर केंद्र में एक बड़ा सा follicular cavity पाया जाता है , जिसे antrum कहते है । antrum में एक गाढ़ा पदार्थ भरा रहता है जिसे liquar folliculi कहते है विकास कें अंतिम अवस्था में graffian follicle , ovary कें सतह कि ओर गाती करता है सतह पर पहुँचकर यह फट जाता है किस करना ovum , ovary से बाहर निकलकर abdominal cavity में आ जाती है । ovum कें ovary से बाहर निकलने कि प्रकिया को ovulation कहते है । यह ovulation अगले manstrual cycle कें ठीक 14 दिन पहले होता है । इसके बाद ovum किसी एक fallopian tube में प्रवेश कर जाती है ।


ovary-follicle


(b)  Corpus leuteum:- Ovulation  बाद फटा हुआ follicle एक पीले रंग कें ठोस रचना में परिवर्तित ho.जती है जिसे corpus leuteum कहते है । यह progesterone नामक एक महत्वपूर्ण sex hormone का secretion करता है । यदि ovum , fertilized हो जाती है तो corpus leuteum बड़ा होता है और गर्भावस्था कें पहले सात महीनो तक रह जाता है । लेकिन यदि ovum , fertilized नहीँ हो पाता है तो corpus lueteum , गायब हनी लगता है और उजले रंग कें tissue का अवशेष छोड़ जाता है जिसे corpus albicans कहते है ।




2. Fallopian Tube or Uterine Tube or Oviduct:- ये tube कें समान कें रचना है जो ovum को ovary से uterus तक पहुँचने कें लिये आवश्यक होता है । प्रत्येक uterine tube लगभग 10 cm लम्बा होता है । Uterine tube का lateral end , funnel कें समान रचना कें रूप में पाया जाता है जिसे infundibulum कहते है । इसमे अनेक ऊँगली कें समान उभार पाया जाता है जिसे fimbrae कहते है । इसी कारण इस end को fimbriated end कहते है । इस सिरे par.पायें जाने वाले छिद्र को ostium कहते है । दोनो fallopian tubes , uterus में खुलते है ।


fertilization


3. Uterus or Womb:- यह खोखला pyriform आकार का मांसल थैले कें समान रचना है जिसकी लम्बाई लगभग 7 cm और चौड़ाई 5 cm  होता है । यह pelvic cavity कें मध्य भाग में urinary bladder कें पीछे पाया जाता है । uterus कें cavity का भीतरी भाग mucous membrane से बना होता है जिसे endometrium कहते है । यह अत्यधिक vascular का wall , smooth muscle fibres से बना होता है जिसे myometrium कहते है ।



4. Cervix:- Uterus का निचला सिरा बहुत ही संकरा होता है जिसे cervix कहते है ।



5. Vagina:- Uterus एक लचीला मांसल tube में खुलता है जिसे vagina कहते है । इसकी लम्बाई लगभग 10-15 cm होती है । vagina , female copulatory organ कें समान कार्य करता है और mating कें समय male से sperm को ग्रहण करता है । बच्चे कें जन्म कें समय यह यह बच्चे को बाहर निकालने कें लिये भी आवश्यक होता है । vagina बाहर कि ओर एक छोटे छिद्र कि मदद से खुलता है जिसे external vaginal orifice कहते है । यह छिद्र urethral orifice कें ठीक नीचे स्थित होता है ।



vaginal orifice कें दोनो sides में vestibular gland या bartholin ‘s gland पाया जाता है । यह gland पुरुष कें cowper’s gland कें समान होता है और चिपचिपा पदार्थ का secretion करता है जो vagina को चिपचिपा बनाता है । vaginal orifice ek.पतले , तने हुये mucous membrane से ढका  होता है जिसे hymen कहते है । साधारणता hymen स्त्रियो में प्रथम copulation कें समय फट जाता है । vaginal orifice , urethral orifice और hymen ko.सम्मिलित रूप से vestibule कहते है । यह vestibule बाहर कि ओर external genital organ कि मदद से खुलता है जिसे vulva कहते है । vulva दो जोड़े fatty tissue कें folds से घिरा होता है । अंदर वाले चिपचिपे fold ko.labia minora तथा बाहरी hairy fold को labia majora कहते है ।


6. Clitoris:- यह स्त्रियो में पाया जाने वाला सबसे sensitive , छोटा सा अंग है जो पुरुष कें penis कें समान होता है । यह urethral orifice कें ठीक ऊपर पाया जाता है । clitoris एक skin से ढका  होता है जिसे prepuce कहते है ।


3 comments:

Your email address will not be published.