Male reproductive system


मनुष्य के Male Reproductive System में निम्नलिखित structure पाये जाते है।


male-reproduction-system
               

Male Reproductive System In Hindi


1. Testes:- Testes, male reproductive system का सबसे महत्वपुर्ण organ है । यह एक जोड़ा अंडाकार रचना के रूप  में  abdomen के बाहर एक मांसपेशियों के थैले में पाया जता है , जिसे scrotal sac (scrotum) कहते है । Testes के आंतरिक  रचना  का अध्ययन  करने पर हम पाते  है  कि प्रत्येक testes एक पतले झिल्ली  से घिरा होता  हैँ  जिसे  peritoneum कहते है , इसके  नीचे  firbrous connective tissue का एक layer  पाया जाता  है जिसे tunica albuginea कहते है।


प्रत्येक testes के अंदर लगभग 750 कुण्डलित  tube के समान रचना पाये जाते है , जिसे seminiferous tubules कहते है ये tubules , testis के रचनात्मकत और क्रियात्मक ईकाई के रूप में जाने जाते है । ये tubules आपस में connective tissue कि मदद से जुड़े होते है । इन tubules के बीच में अनेक छोटे छोटे cell पाये जाये है जिसे interstitial cells कहते है । इसके संबंध में पहली बार Leydig  नामक scientist ने report किया था । अत : इसे Leydig's cells भी कहते है । ये cells , testis के endocrine का निमार्ण करते है।




Seminiferous tubules के section का अध्ययन करने पर हम पते है कि यह basement membrane से घिरा होता है जिसके नीच germinal epithelium का layer पाया जाता है । इस layer के नीचे spermatogonia , spermatocyte और spermatids क्रम में पाये  जाते है । seminiferous tubules के cavity में spermatozoa के समूह पायें जाते है । spermatocytes, spermatids और spermatozoa के समूह आपस में विशेष प्रकार के cells से अलग रहते है जिसे sertoli cells कहते है । ये सभी seminiferous tubules अन्य रचना में खुलते है जिसे vasa efferentia कहते है । ये रचना epididymis में खुलते है और spermatozoa को testis से बाहर निकलते है ।


2. Epididymis:- यह एक 6 cm लम्बा , अत्यधिक मुड़ा हुया tube है जो testis के बाहर पाया जाता है और उसे अंशिक रूप से घेरता है ! Epididymis को तीन भागो में विभाजित किया गया है । अगले भाग को head , मध्य भाग को body और पिछले भाग को tail कहते है ।  Head region में अनेक vasa efferentia पाये जाते है । body region में ये efferentia आपस में जुड़कर एकहरा tube बनाते है , जिसे duct of epididymis कहते है ।


Tail region में यह duct माँस पेशियों के एक tube के सथ जुड़ जाता है , जिसे ductus differens (Vasa deferens) कहते है । Testis और epididymis को सम्मिलित रूप से testicle कहते है । Epididymis , sperms को थोड़ी देर तक जमा रखने के लिये आवश्यक होता है तथा उसे गतिशील और विकसित बनाता है ।


epididymis


3. Ductus of Deferens (Vas Deferens):- यह लगभग 40 cm लम्बा , मांसपेशियों का बना हुया tube है जो प्रत्येक epididymis से निकलता है और abdomen में ऊपर ki.ओर गति करता है । vas deferens , seminal vesicle के duct के साथ urinary bladder के आधार पर जुड़ जाता है और ejaculatory duct ka.निर्माण करता है । vas deferens का अंतिम  सिरा फूला हुया होता है जिसे ampulla कहते है।


4. Ejaculatory Duct:- यह लगभग 2 cm लम्बा , पतले दीवार वाला tube है जो vas deferens को urethra से जोड़ता है । seminal vesicle प्रत्येक ejaculatory duct में अपने urethra से जोड़ने से पहले खुलता है ।


5. Urethra:- यह लगभग 18-20 cm लम्बा tube है , जो urinary bladder से निकलकर prostate glands और penis से होता हुया external urethra orifice नामक छिद्र कि मदद से शरीर के बाहर खुलता है । यह urine के साथ-साथ sperms तथा seminal vesicles द्वारा निकले जाने वाले पदाथों को मार्ग प्रदान करने का कार्य करता है ।




6. Acessory Glands:- Male reproductive system में पायें जाने वाले acessory glands या secondary glands निम्नलिखित है :-




(a)    Seminal vesicles:- ये लम्बे , कुण्डलित  , मांसल glandular और लगभग 4 cm लम्बा bag थैले के समाना रचना है जो urinary bladder के ठीक पीछे स्थित होते है । seminal vesicle का duct , vas deferens के साथ जुड़कर एक common ejaculatory duct का निर्माण करता है । Seminal vesicles एक गाढ़ा पदार्थ को निकलता है जो sprems के साथ बाहर निकलता है । इस पदार्थ को seminal fluid कहते है ।


इस fluid और sperm के mixture को सम्मिलित रूप से semen कहते है । पूरे semen का लगभग 70% seminal vesicle द्वारा  निकाले जाने वाले seminal fluid से बना होता है । seminal fluid में sugar fructose पाया जाता है जो sperms ko.ऊर्जा प्रदान करता है और उसे गतिशील बनाता है।


(b)   Prostate Gland:- यह gland , urinary bladder के neck के ठीक नीचे urethra के चारो ओर पाया जाता है । इस gland से निकलकर अनेक छोटे संकरे tubes , urethra में खुलते है जिसे prostatic utricle और prostatic acini कहते है । अत: prostate gland अपने पदार्थो  को सीधे urethra में निकल देते है । इसके द्वारा निकाले जाने वाले पदार्थ पतले दूध के समान होते है और पूरी semen का volume ka.लगभग 15-30% भाग का निर्माण करते है ।


(c)   Cowper’s gland or Bulbourethral glands:- ये एक जोड़े पीले रंग के ग्लेंड्स है जो urinary bladder के ठीक नीचे तथा urethra के पीछे पायें जाते है । ये glands , urethra में उसके penis में प्रवेश करने से पहले खुल जाते है । Ejaculation से ठीक पहले यह clear , alkaline , viscid mucus fluid को निकालता है जो urethra में lubrication उत्पन करता है और उसमे पायें जाने वाले ऐसे किसी भी प्रकार के acidic urine को साफ करता है जो sperms को नुकसान पहुँचा सकते है


7. Copulatory organ (Penis):- Penis पुरुषो में पाया जाने वाला copulatory organ है जो scrotum के आगे कि ओर पाया जाता है । यह एक बेलनाकार रचना है जो sperms और urine दोनो के लिये मार्ग प्रदान करता है । यह female reproductive tract अर्थात vagina में sperm को transfer करने में मदद करता है । यह अत्यधिक मांसपेशियों से बना हुया अंग है जिसमे erectile tisssue और vascular spaces पायें जाते है । जब इस spaces में blood भर जाता है तो penis कड़ा और सीधा हो जाता है । penis का अगला सिरा हल्का फूल जाता है और एक रचना k निर्माण करता है जिसे glans कहते है । यह glans एक बहुत ही पतले और मुड़े हुये sensitive skin से ढकें होते है जिसे prepuce कहते है।


Post a Comment

0 Comments