Digestive system of human


मनुष्य में पाये जाने वाला वह body system जो ऊर्जा उत्पादक पदार्थ और शरीर निर्माता पदार्थ को भोजन के रूप में ग्रहण करने, पचाने के लिए, अवशेषन के लिए तथा assimilation के लिए आवश्यक होता है उसे digestive system of human कहते है|

मनुष्य के digestive system में alimentary canal और associated glands पाये जाते है|

>> Alimentary canal:- Alimentary canal एक लम्बा tube है जिसकी लंबाई लगभग  8-10 m  तक होता है| यह mouth से प्रारम्भ होता है और anus के द्रारा शरीर से बाहर खुलता है| Alimentary canal में निम्नलिखित parts पाये जाते है:-


digestive-system-of-human


Digestive System of Human


1. Bucco pharyngeal cavity:- मनुष्य का mouth एक transverse slit के समान छिद्र है जो soft, movable lips से घिरा होता है| mouth के अंदर पाये जाने वाले space को oral cavity या buccal cavity कहते है| buccal cavity के अंदर एक मांसल tongue और जबड़े में स्थित teeth पाये जाते है।


(a) Tongue:- यह एक मांस पेशियों का बना हुआ मोटा sensory organ है जो buccal cavity के floor पर स्थित होता है| tongue का पिछले भाग buccal cavity के floor से एक मुलायम fold की मदद से जुड़ा होता है जिसे frenulum कहते है| tongue का सतह stratified squamous epithelial tissue से बने हुए एक mucous membrane द्रारा बना हुआ होता है| tongue के सतह पर taste buds भी पाये जाते है| ये taste buds, papillae में पाये जाते है जो tongue के oral part के ऊपरी सतह पर पाये जाते है।



ये papillae तीन प्रकार के होते है:- vallate, fungi form और filliform. Tongue के विभिन्न भाग में पाये जाने वाले taste buds अलग-अलग स्वाद के लिए आवश्यक होते है जैसे (मीठा, खट्टा, नमकीन और तीता) tongue भोजन को ग्रहण करने, चबाने और निगलने में मदद करता है| यह दांतो को साफ करने, भोजन और saliva को मिलाने तथा speech के लिए भी आवश्यक होता है|




(b) Teeth:- एक वयस्क मानव में साधारणतः 32 permanent teeth पाये जाते है जो जबड़े में पाये जाने वाले sockets में स्थित होते है अतः इन्हें thecodont कहते है| ये दांत अपने रचना और कार्य के आधार पर चार अलग-अलग प्रकार के होते है अतः इन्हें heterodont भी कहते है| ये पूरे जीवन काल में दो बार निकलते है| पहले set को milk teeth कहते है जो नष्ट हो जाते है और इसके स्थान पर दूसरा set निकल जाता है जिसे permanent teeth कहते है| इस प्रकार के teeth को diphydont कहते है|


स्तनधारियों में पाये आने वाले दांतो की सख्य को dental formula द्रारा दर्शाया जाता है| एक वयस्क मानव में dental formula 2123 होता है अर्थात जबड़े में प्रत्येक आधे भाग में मध्य से किनारे की ओर दो incisers, एक canine, दो premolars और तीन molars पाये जाते है| तीसरा molar 20 वर्ष के आयु के बाद विकसित होता है अतः इसे wisdom teeth कहते है| 




(c) Vestibule and palate:- Lips और मसूड़े के बीच पाये जाने वाले space को vestibule कहते है| bucco pharyngeal cavity के छत को palate कहते है| इसका अगला भाग hard palate तथा पिछले भाग soft palate कहलाता है| soft palate में एक लटकता हुआ uvula पाया जाता है|


(d) Pharynx:- Bucco pharyngeal के पिछले भाग को pharynx कहते है| मनुष्य में uvula, pharyngeal cavity को dorsal nasopharynx और ventral orapharynx में विभाजित कर देता है| internal nostrils nasopharynx में खुलते है| जबकि oropharynx के lateral walls में tonsils पाये जाते है| pharynx के पिछले wall में ऊपर की ओर एक gullet पाया जाता है जो oesophagus में खुलता है और नीचे की ओर glottis पाया जाता है जो respiratory tract में खुलता है| glottis, epiglottis द्रारा घिरा होता है|




2. Oesophagus:- Oesophagus एक 22-25 cm लंबा संकरा, मांसल, tubular structure है| यह neck के द्रारा trachea के पीछे की तरफ से नीचे की ओर गति करता है और abdomen में पाये जाने वाले stomach में खुलता है।




3. Stomach:- Stomach एक बड़ा, मांसल, J आकार का bag के समान रचना है| इसके ऊपरी भाग को cardiac(fundus), निचले भाग को body(corpus) और पिछले भाग को pyloric(antrum) कहते है| stomach का दो सिरा होता है| ऊपरी सिरा को cardiac end कहते है जो oesophagus से जुड़ा होता है| पिछले सिरे को pyloric end कहते है जो duodenum में खुलता है| stomach में दो curvatures पाया जाता है| जिसमें से बड़ा curvature left side में और छोटा curvature right side में पाया जाता है|


4. Small intestine:- यह  आहार नाल का सबसे लम्बा भाग है जो लगभग 6 m लम्बा होता है| यह संकरा और tubular होता है तथा तीन भागो में विभाजित होता है| 


(a) Deudenum:- यह small intestine का अगला भाग है जो 25 cm लम्बा होता है| यह एक C आकार  की रचना है जिसमें common bile duct खुलता है| यह duct, bile duct और pancreatic duct के जुड़ने से बना होता है|


(b) Jejunum:- यह small intestine का निचला भाग है जो लगभग 240 cm लम्बा होता है|


(c) Ileum:- यह small intestine का सबसे लम्बा भाग है जो 4.6 m लम्बा होता है और बड़ी आंत में खुलता है| ileum और jejunum दोनों बहुत ही कुंडलित रचना है| small intestine के भीतरी सतह पर अनेक उंगली के समान उभार पाये जाते है जिसे villi कहते है|




5. Large intestine:- lleum बड़ी आंत में खुलता है जो लगभग 1.5 m लम्बी रचना है| यह एक U आकार की रचना है जो तीन भागो में विभाजित होता है|


(a) Caecum:- यह एक छोटा pouch के समान रचना है जो एक tubular रचना में खुलता है जिसे vermiform appendix कहते है| caecum और appendix कार्य के आधार पर vestigeal होते है|


(b) Colon:- यह एक लम्बा फुला हुआ रचना है जो ascending colon, transverse colon, descending colon और pelvic colon में बंटा होता है| pelvic colon एक S आकार की रचना है जो rectum में खुलता है|


(c) Rectum:- यह एक छोटा मांसपेशियों का बना हुआ रचना है जो 13 cm लम्बा होता है| यह anus के द्रारा शरीर के बाहर खुलता है जो दो anal sphincter muslces द्रारा घिरा होता है।


Post a Comment

0 Comments