Mammalian Ear


Mammalian ear एक प्रकार का महत्वपूर्ण sense organ है जो ध्वनि को ग्रहण करने के लिए आवश्यक होता है अतः इसे phonoreceptor भी कहते है| इसे निम्नलिखित तीन भागो में विभाजित किया जा सकता है:-



mammalian-ear


Structure of human Ear


1. External ear:- यह head के दोनों ओर wing के समान रचना के रूप में पाया जाता है जिसे pinna कहते है| यह यह elastic cartilage का बना होता है जो hairy skin द्रारा ढका होता है जिसे external auditory canal या external auditory meatus कहते है|



2. Middle ear:- इसमें एक chamber पाया जाता है जिसे tympanic cavity कहते है| इस cavity और pharynx के बीच एक eustachian tube या auditory tube पाया जाता है| middle ear में तीन छोटे-छोटे bones पाये जाते है जिसे ear ossicles कहते है| पहला bone hammer के आकार का होता है जिसे malleus कहते है| दूसरा bone anvil के समान होता है जिसे incus कहते है| तीसरा bone घोड़े के नाल के समान होता है जिसे stapes कहते है| stapes body का सबसे छोटा bone है| malleus आगे की ओर tympanic membrane से जुड़ा होता है तथा stapes पीछे की ओर internal ear के साथ fenestra ovalis नामक छिद्र की मदद से जुड़ा होता है| या छिद्र oval membrane की मदद से ढका होता है| इस छिद्र के नीचे fenestra rotunda नामक छिद्र पाया जाता जो round membrane की मदद से ढका होता है|



3. Internal ear:- यह membrane labyrinth के रूप में पाया जाता है जो periotic bone के अंदर स्थित होता है| periotic bone और membranous labyrinth के बीच perilymph पाया जाता है| membranous labyrinth भी endolymph से भरा होता है| endolymph में कुछ calcareous particles पाये जाते है जिसे otoliths कहते है| membranous labyrinth को vestibules तथा तीन semicircular canals में विभाजित किया जा सकता है| vestibules के ऊपरी भाग को utriculur तथा निचले भाग को sacculus कहते है| sacculus से एक coiled tube के समान cochlear duct या lagena निकलता है| lagena के coils के बीच ligaments पाये जाते है|




प्रत्येक semicircular canal एक लम्बा और संकरा tube के समान रचना है जो एक-दूसरे पर perpendicular होते है| इनमें  से दो vertical होते है जिसे anterior तथा posterior semicircular canals कहते है| दोनों canals का कुछ भाग आपस में जुड़े होते है जिसे crus commune कहते है| third canal को horizontal या external semicircular canal कहते है| प्रत्येक canal पर एक sensory crista पाया जाता है जो sensory hair cells तथा supporting cells से बना होता है|



Structures of cochlea:- Cochlea tube एक लम्बा, कुंडलित tube के समान रचना है जो bony labyrinth से जुड़ा होता है| cochlea के अंदर पाया जाने वाला cavity reissner membrane तथा basilar membrane की मदद से तीन भागो में बंटा होता है| ऊपरी भाग को scala vestibuli, बिचले भाग को scala media तथा निचले भाग को scala tympanic कहते है| scala vestibuli तथा scala tympani में perilymph भरा होता है| दोनों chamber, helicotrema नामक छिद्र की मदद से संबधित होते है| scala vestibuli, fenestra ovalis से संबधित होता है जबकि scala tympani fenestra rotunda से संबधित होता है| scala media में endolymph भरा होता है| scala media epithelial cells से घिरा होता है जो basilar membrane के सतह पर modified होकर organ of corti में परिवर्तित हो जाते है| organ of corti के ऊपर tectorial membrane पाया जाता है जो sensory hairs को touch करता है|




Working of ear:- Ear का मुख्य कार्य ध्वनि को सुनना तथा शरीर को संतुलन बनाये रखना है|


1. Hearing:- Sound wave, external auditory meatus द्रारा ear में प्रवेश करते है और tympanic membrane में कंपन उत्पन्न करते है जो ear ossicles द्रारा होते हुए oval membrane में पहुँचते है| यह कंपन scala vestibuli में स्थित perilymph में पहुँचता है जिसका प्रभाव reissner membrane और basilar membrane पर पड़ता है| इन  membrane के कंपन कर कारण scala media के endolymph में कंपन उत्पन्न करता है| ये कंपन auditory nerves द्रारा brain में पहुँचाया जाता है और animal आवाज को सुन पाते है| 


2. Equilibrium:- स्तनधारियों का कान शरीर के संतुलन बनाने के लिए भी आवश्यक होता है| यह संतुलन दो प्रकार का होता है:- static equilibrium और dynamic equilibrium. वह संतुलन जिसमे गुरुत्वाकर्षण के आधार पर शरीर अवस्था को संतुलित किया जाता है उसे static equilibrium कहते है| और वह संतुलन जिसमें अचानक गति के कारण शरीर के अवस्था में आने वाले परिवर्तन को नियंत्रित किया जाता है उसे dynamic equilibrium कहते है|


internal ear में पाये जाने वाले utriculus और sacculus, static equilibrium के लिए आवश्यक होते है जबकि तीनों semicircular canals, dynamic equilibrium के लिए आवश्यक होते है| जब हम अपने सिर को हिलाते है तो सिर के साथ-साथ ear में पाये जाने वाले semicircular canals में भी गति उत्पन्न हो  जाता है जो endolymoph में movement उत्पन्न कर देते है| इस गति का परिणाम यह निकलता है कि endolymph  में पाये जाने वाले otoliths, ampulla के sensory crista से टकराते है और उसमे sensation उत्पन्न करते है| जो brain तक जाता है| और  शरीर में संतुलन उत्पन्न करता है|


Post a Comment

0 Comments