Respiratory system of human


Respiration जीवित cell में होने वाला एक catabolic process है जिसमें जटिल कार्बनिक भोज्य पर्दाथ जैसे glucose को सरलतम compound अर्थात CO2  और H2O में oxidised कर दिया जाता है तथा ऊर्जा ATP के रूप में मुक्त होता है|

मनुष्य के respiratory system को मुख्यतः दो समूहों में बांटा जा सकता है:-

1. Respiratory tract

2. Respiratory organs



respiratory-system-of-human


Kind of Human Respiration


1. Respiratory tract:- यह एक प्रकार का मार्ग है जो फेफड़े के अंदर प्रवेश करने वाले और उसके द्रारा निकाले जाने वाले गैसों को गति प्रदान करने के लिए आवश्यक होता है| respiratory tract के अंतर्गत निम्नलिखित रचना आते है:-


(a) Nostril or external nares:- यह nasal cavities के opening के रूप में पाया जाता है और मुंह के ठीक ऊपर स्थित होता है|


(b) Nasal chamber:- यह head में पाया जाने वाला एक जोड़ा मार्ग है जो तालु के ठीक ऊपर स्थित होता है| ये दोनों chambers एक septum द्रारा अलग होते है|


(c) Internal nares:- यह nasal chambers के opening के रूप में पाया जाता है जो अंदर की ओर nasopharynx के roof में खुलता है|


(d) Pharynx:- यह एक छोटा, लम्बवत नाली के आकार का रचना है जो buccal cavity के ठीक पीछे स्थित होता है| pharynx के ऊपरी भाग को nasopharynx कहते है जिसमें internal nares खुलते है तथा pharynx के निचले भाग को oropharynx कहते है|


(e) Larynx:- यह neck में पाया जाने वाला एक बड़ा रचना है जो trachea के ऊपरी सिरे पर स्थित होता है| इसमें vocal cords पाया जाता है जो sound उत्पन्न करने के लिए आवश्यक होता है|


(f) Trachea:- यह एक लम्बा लगभग 12 cm, खोखला tubular रचना है जो neck की पूरी लंबाई में पाया जाता है तथा thoracic cavity के कुछ भाग तक में फैला रहता है| nasal cavity द्रारा प्रवेश करने वाला वायु pharynx द्रारा trachea में प्रवेश करता है| अतः इसे wind pipe भी कहते है| trachea की दीवारों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए cartilage की बनी हुई half rings पाये जाते है| trachea का ऊपरी भाग एक छोटे छिद्र की मदद से buccal cavity में खुलता है जिसे glottis कहते है|



(g) Bronchi:- Thoracic cavity में प्रवेश करने के बाद trachea शाखाओं में विभाजित हो जाता है जिसे bronchi कहते है| प्रत्येक bronchus प्रत्येक फेफड़े में प्रवेश कर जाता है और पुनः अनेक नलिकाओं में विभाजित हो जाता है| जिन्हें bronchial tubes कहते है| ये tubes भी अनेक पतले-पतले नलिकाओं में विभाजित हो जाते है जिसे bronchiole कहते है| प्रत्येक bronchiole का अंत एक फुले हुए वायु  से भरे हुए रचना में होता है जिसे alveoli कहते है|


2. Respiratory organs:- Respiratory organs एक जोड़े lungs के रूप में पाये जाते है जो thoracic cavity में ह्रदय के ठीक बगल में स्थित होता है| प्रत्येक lung बाहर की ओर दोहरी membrane द्रारा ढंका होता है जिसे pleura कहते है| दोनों membrane के बीच पाये जाने वाले space को pleural cavity कहते है| इस cavity में pleural fluid भरा होता है| प्रत्येक फेफड़ा एक लाल रंग का, मुलायम, चमकदार चिकने सतह वाला spongy elastic बैग के समान रचना है|


प्रत्येक lungs शंकु के आकार के होता है जिसका ऊपरी भाग संकरा तथा निचला भाग चौड़ा concave के समान होता है| left lungs में दो खंड होते है जबकि right lungs में तीन खंड होते है| यही कारण है कि left lung, right lung की तुलना में छोटा होता है| प्रत्येक lungs में bronchioles, 300-400 million alveoli तथा blood vessels  और capillaries का जाल पाया जाता है|




External Respiration in human





Lung के अंदर oxygen और carbon dioxide के आदान-प्रदान की प्रकिया को external respiration कहते है| alveoli की रचना pulmonary blood में alveolar air को प्रवेश कराने के लिए सहायक शिद्ध होता है| breathing के कारण स्वच्छ वायु oxygen के अधिक सांद्रता के साथ lungs में प्रवेश करता है और alveoli में भर जाता है| alveoli की दीवार बहुत पतली होती है जिसमें पतले-पतले blood capillaries का जाल पाया जाता है| pulmonary artery द्रारा deoxygenated blood, lungs में प्रवेश करता है जो alveolar capillaries द्रारा alveoli में प्रवेश कर जाता है|


इस प्रकार हम पाते है कि capillaries के blood में oxygen का दबाव कम तथा CO 2  का दबाव ज्यादा होता है| यही कारण है कि alveolar में उपस्थित वायु में से O 2 pulmonary capillaries में प्रवेश कर जाता है तथा pulmonary capillaries के blood में से CO 2  alveoli में प्रवेश कर जाता है| गैसों का आदान-प्रदान diffusion प्रकिया द्रारा संपन्न होता है|


Post a Comment

0 Comments